Motivation Quotes, Romantic Quotes,

आखिर क्यों नहीं बताया गया – बाजीराव पेशवा प्रथम का इतिहास ,

आखिर क्यों नहीं बताया गया – बाजीराव पेशवा प्रथम का इतिहास ,

History of bajirav Peshava

आप सभी ने इतिहास पड़ा होगा और देखा होगा कि हिन्दू राजा से अधिक मुस्लिम राजाओ का ही बखान है इतिहास में उसमे भी उनकी सारी गुनाहों को छुपा कर ही बताया गया है लेकिन हिन्दू राजाओ को इतिहास के पन्नो से गायब कर दिया गया है || Baji Rav Peshava Pratham बाजी राव एक हिन्दू राजा था और वह हिन्दुस्तान को एक हिन्दू राज्य बनना चाहता था , जैसे us कि जानकार लोग जानतें हैं कि History of Baji Rav Pratham पेशवा बाजी राव प्रथम एक सफल पेशवा और सेनापति थे उन्होंने अपने जीवन काल मे जितने भी युद्ध लड़े उन सभी में जीत हासिल की। उनका लक्ष्य था दिल्ली की मुग़ल सल्तनत को उखाड़ फेंकना और भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाना।

बाजीराव प्रथम

अब हमारी इतिहास की समस्या यहां से सुरु होती है क्योंकि सरकारें आज़ादी के बाद से ही भारत को एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र बनाना चाहते थे।

History of Samrat Ashoka , सम्राट अशोक कि कहानी ?

लेकिन ऐसा एक महान हिन्दू सेनापति जो भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाना चाहता था उसकी वीर गाथाओं,युद्धों और युद्ध शैलियों के बारे में बच्चों को पढ़ा कर नही बताया जा सकता था क्योंकि फिर भारत की एक धर्मनिरपेक्ष क्षवि बनने में समस्या हो सकती थी। Bajirav Peshava pratham because a great hindu king

बाजी राव पेशवा कि पुरी कहानी –

तो इससे निपटने के लिए सरकार ने हिन्दू शाशकों और महान सेनापतियों की गाथाओं उनके साम्राज्यों को पाठ्यक्रम से हटा ही दिया, और हमे, नई पीढ़ियों को स्कूलों में, कॉलेजों में पढ़ने मिला, ‘महान’ अकबर के बारे में, नादेर शाह के बारे में और ना जाने कितने और ‘धर्मनिरपेक्ष’ राजाओं और सेनापतियों के बारे में लेकिन उसमें से भी वो हिस्सा मिटा दिया गया जिसमें नादेर शाह जैसे क्रूर इंसान ने हजारों मासूमों की जान लेली थी।

ये कोई आज का नही है, बहुत समय पहले से ही होता आया है(आज़ादी के समय से ही)।

History of “baji rav pratham”मेरे हिसाब से तो यही एक मुख्य कारण है जिसकी वजह से बजे राव प्रथम और उनके जैसे महान हिन्दू शाशकों को इतिहास के पन्नों से दूर रखा गया।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *